MBA Finance Full Syllabus Explain in हिंदी

MBA Finance Full Syllabus Explain in हिंदी

मेरा नाम है सुनील अधिकारी आज का वीडियो बहुत ही करने जा रहे हैं। फाइनल कर लिया है कि हमें अंडर ग्रेजुएट के बाद आएंगे तो करना ही करना है और एनडीए में स्पेशलाइजेशन जिसमें शादी के समय फाइनेंस करना है। क्या अच्छा है क्या यह फ्यूचर में स्कूल है। इसका हमें हाई पेइंग जॉब्स मिल पाएगी। नहीं मिल पाएगी। बहुत सारे एमबीए फाइनेंस से रिलेट करके ही क्वेश्चन साथ हैं। मैंने एक वीडियो बना दिया जाए ताकि आपको पढ़ाई जाएगी। यह चीज आपके मतलब की है या नहीं है। समझ में आएगा। आपको जब भी अच्छे से पढ़ाई जाएगी या नहीं तो आज के

लेखा के सिद्धांत

वीडियो में पड़ता हम। पर्दाफाश करने वाले हैं एमबीए फाइनेंस का ए टू जेड पूरा सिलेबस हम डिस्कस करने वाले हैं। जितने भी मैन सब्जेक्ट होते हैं, सब आपके सामने रखे जाए। उसके प्लस उसके – देखे हैं। आपके बस का है। वह सब्जेक्ट या नहीं। वह हम डिस्कस करने वाले हैं। मेरी एयरपोर्ट और तुम एक्सपेक्ट करूंगा। यह 10 मिनट का वीडियो पूरा देखें और एंड द वीडियो कमेंट करके जरूर बताएं कि आप एमबी फाइनेंस करेंगे या नहीं करेंगे और वीडियो कैसा लगा के टाइम में ज्यादातर कॉलेज में सेमेस्टर सिस्टम हो चुके हैं, लेकिन मैंने यहां पर ईयर वाइज दिया है तो आप समझ जाइएगा। फर्स्ट ईयर में मतलब 2 सेमेस्टर होते हैं और सेमेस्टर में मिनिमम नियर अबाउट 5 सब्जेक्ट रहते ही रहते हैं। मतलब 5 सब्जेक्ट है जरा एवरेज लेकर चलें। दोपहर में 5 सेकंड में 5 वार्ड में भी उसने कोर्ट में भी उसने कई कॉलेज इसमें क्या होता है? फाइनल ईयर तक आते-आते या फिर फाइनल? एयर में जो 2 सेमेस्टर होते हैं थोड़ा और उन्हें सबसे कम हो जाते हैं क्योंकि वहां पर प्रोजेक्ट बहुत ज्यादा हो जाता है। वहां पर इंटर्नशिप वगैरह हो जाती है तो हर कॉलेज

कॉर्पोरेट की सामाजिक जिम्मेदारी

अलग होता है और सब्जेक्ट सिमरन करते हैं। फर्स्ट ईयर के सिलेबस में आपको सब्जेक्ट देख रहे हैं। प्रिंसिपल ऑफ एकाउंटिंग बहुत से ऐसे बच्चों ने अकाउंट नहीं पर जो भी टीचर्स होते हैं ना यह पहले से ही क्लियर रहती है कि एमबीए फाइनेंस सिर्फ वाला है। फिर कॉमेंट्स वाला बच्चा ही नहीं करेगा। अच्छा करेगा। इंजीनियरिंग वाला बच्चा करेगी। मेडिकल वाला बच्चा भी कर सकता है तो वह जितना हो सके बेसिक लेवल से आपके स्टार्टिंग करते हैं। फंडामेंटल साहब के मजबूत करते हैं। फिर एडवांस लेबर टॉपिक पड़ जाते हैं। मैं जहां पर नहीं जा। कोई कॉमेंट्स वाला अपना फ्रेंड पकड़ना पड़ेगा। उससे थोड़ा बहुत सीखना पड़ेगा। देते हैं और लेने वाली जरूरत नहीं है सकते हैं या कॉरपोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी पूरी तरीके से ज्यादा तबीयत ठीक है और इंटरेस्टिंग है। कंपनी की क्वालिटी के लिए टिकट इन परसेंटेज उनको निकालना पड़ता है। सोसाइटल बेनिफिट के लिए तो उसके पूरे कांसेप्ट है। क्या प्रोसेस होता है, क्या बेनिफिट होता है। क्या पॉजिटिव पाए जाने के लिए हैं उसके ऊपर पूरा ही बहुत अच्छा आपको यह एक टॉपिक रहता है जो कि हर एक मैनेजमेंट बच्चों को पढ़ाया जाता है। ठीक है। कहां पर है मैंने कर रहे हैं तो एक्सपेक्ट करिए कि हैप्पी

मात्रात्मक तरीके और सांख्यिकी

बर्थडे 7280 क्वेश्चन आप का प्रैक्टिकल ज्यादा सब्जेक्ट से। इंडिया को कराया जाएगा ठीक है। डुप्लीकेट मेथड एंड स्टैटिसटिक्स कम्युनिकेशन एंड सॉफ्ट स्किल जरूरी है। बहुत जरूरी है। स्कूल में आते हैं तो बहुत ज्यादा जाता है, क्यों नहीं कर पाएंगे। आप सॉफ्ट स्किल चलना कैसे हैं? बोला कैसे हैं? आप बॉडी लैंग्वेज कैसी होनी चाहिए। आपकी कब पहुंच करना है। कब लोग बीच में बोलना है तब थोड़ा तेज बोलना है। वह सारी चीज आपको एक अच्छी पढ़ाई जाती है। फाइनेंस से जुड़े आपको सिखाई जाती है, पढ़ाई जाती है और फाइनेंस रिलेटेड चित्र में टाटा होते हैं। कौन से स्टार्ट होते हैं, उनको रेप करना उनके जो डाटा होते जैसे डाटा एनालिटिक्स आप बोलते हैं। एनालिटिक्स डाटा एनालिटिक्स बिग डाटा एनालिटिक्स या फिर से टिकट निकाल कर आप कैसे कांटेक्ट डाटा को? करते हैं उनको कैसे डिसीजन मेकिंग कसा बनाते हैं और कास्टिंग टूट गया। तुमको भूल सकते हैं कि आप कैसे हो सर पूरी तरीके से आप बता सके फास्ट ट्रेन दिए थे। प्रेजेंट पर हम इस चीज का वर्क करें और हम यह करते की सूचना नहीं हो सकता है। ठीक है कंपनी कांटेक्ट एडमिन को मिटा गीत करना है तो वह सारी चीज आपको मार्केटिंग रिसर्च पढ़ाई जाती है। बिजनेस इंटेलिजेंस मैंने आपको बताया डाटा से जुड़ा यह भी

बिजनेस कम्युनिकेशन और सॉफ्ट

सब्जेक्ट है तो डाटा इन यहां पर एक बार होता है। स्टेट मैनेजमेंट स्टडीज बनाई जाती है। क्या प्लानिंग है जी? कमाल करता है अपनी ऑफ डिसीजन मैटरनिटी ला सके। मतलब उसका डिसीजन ले रहा है। सही डिसीजन की जो प्रोबेबिलिटी स्टैटिसटिक्स मैनेजमेंट जी आपको पढ़ाया जाता है। ओके अभी एमबीए फाइनेंस कभी माइक्रोमैक्स करनी है। स्टडी करते हैं और इनकी समझ बढ़ाते हैं। पूरे मार्केट को कैंसिल करने जा रहे हैं। आपको फंडामेंटल्स पता होने से सप्लाई मार्केट डिमांड वगैरह को क्या होता है, वह सारी जताई जाती है। मार्केटिंग के प्रिंसिपल सोते हैं। डिफरेंट इंटर कॉलेज कौन-कौन से हैं? कॉलिंग बन गया, लेकिन अनलेस एंड अंटील आपको सक्सेसफुली उस को प्रमोट करना नहीं आएगा। डिलीवर करना नहीं आएगा। तब तक तू मार्केटिंग आफ एक्टिव नहीं है या सेटिंग्स को समझाया जाते हैं। ट्यूशन फीस वगैरह भी कई जगह आरोपी को बोला जाता है। मोदी पाकिस्तान से कैसे काम करवाना है, ऑपरेशन अभिक्रिया में पड़ी है। उसको बिजनेस में कैसा लगा। हमें तो कहीं ना कहीं बिजनेस शुरू करने में क्लोमिक्स का क्या रोल है, वह आप को बढ़ाया जाता है और पुलिस गवर्नमेंट। एंड डिशनरी एप। बिजनेस चलाना ही सब कुछ नहीं है। सही  से चलाना बहुत ज्यादा जरूरी है तो आपको जो एथिक्स होते हैं, मॉडल की जो होती है, हर

वित्तीय मानक स्थापित करना

पल जो होता है जो हमारे मिस्टेटमेंट्स को बोला जाता है। क्या बनाना बनाना उसका पुराना देख रहा हूं। उसको फीडबैक सप्लाई चैन मैनेजमेंट जितने भी चीन आपके ऑपरेट कर दिया, सॉन्ग बंजारा है तो कैसे गुड डिलीवर हो रहा है। बहुत हो गया। ऑपरेशन के इंटरनल चेंज हो गए। जहां से मिलने पर आता है जो आपकी ओपन इसको बोलते हैं। कौन-कौन से ट्रांसफर टर्मिनोलॉजी हैं? सबको पता होने से वह सारी चीजें होती हैं। बिजनेस लोन ओके समझ होना भी जरूरी है। मैनेजमेंट स्टूडेंट को सबको बिजनेस सेंटर कॉर्पोरेट लो मर्केंटाइल लॉ सब एक ही चीज से बनाई जाती है। आपको जो इंडियन कॉन्ट्रैक्ट एक्ट अंडर पार्टनरशिप एक्ट कोलाज बनाए जाते हैं। ऑपरेशन सोते उनको हैप्पी होली कैसे मैनेज करना है। ऑपरेशंस मैनेजमेंट का पार्ट है। प्रोजेक्ट को कैसे विश करना है। एक बजट में हम भी करना है। इनको हमारी पुत्री ही लगने से पढ़ लो टाइम लिमिट में ही कंप्लीट होना चाहिए तो ऑप्टिमाइज़ कैसे करना है। प्रोडक्ट प्रोजेक्ट को रिसेट कैसे करनी है। वह सारी चीजें प्रोजेक्ट अधिवेशन में पढ़ाई जाती है। मैंने डिलीट करता है। मैं कोई प्रॉमिस माइक्रो माइक्रो ठीक है। कॉरपोरेट मैनेजमेंट कॉपी को कैसे मैनेज करना है? राइट स्माल फॉर्म को मीडियम स्केल फॉर्म को लाइक कमेंट करना है। डिपार्टमेंट से भी ज्यादा कॉलेज में करनी पड़ती होता है। क्षण में शबीर करा जाता है फिर वह मोमेंट्स फैमिलियर कराया जाता है। क्लासरूम स्टडी को वह बैलेंस रखिएगा। मतलब 50% क्लासरूम स्टडी 50% एक्चुअल एंड मोमेंट के स्टेडियम पढ़ाई जाती है। अच्छे कॉलेज अच्छा नहीं होगा। वहां पर लाखों में मेडिकल स्टडी

विपणन अनुसंधान

कराई जाती है। आपको समझाया जाएगा। बताया जाएगा। टेंपल रन के अंदर नहीं गए हैं और मुझे नहीं लगता कि अंदर जाना चाहिए। पहले से आपको इतना डराना चाहिए क्योंकि कराने का कोई मतलब नहीं है कि फाइनेंस बिजी नहीं है और इसी जो है उसकी बर्थ नहीं होती। इसकी बदतमीजी नहीं होता। यह फंडामेंटल लाइफ का जो कि आप को समझना चाहिए और। तो आप समझने में असफल रहे होंगे। सिंपल भाषा में मैंने आपको समझाने की कोशिश करी है। अब आप बताइएगा। आप पैसे कितने में फाइनेंस करने जा रहे हैं। कमेंट करके जरूर बताएंगे। आपको जैसे मैंने समझाया। यहां लगा बताइएगा रिकॉर्डिंग टू यू एमबीए फाइनेंस सिलेबस इज हार्ड अकॉर्डिंग टू यू। मुझे कमेंट करके बताएंगे और ऐसे ही वीडियो से चैनल पर आते रहते हैं तो इनके साथ में चलना अभी तक टाइम नहीं जरा देर किस बात की और हमारी हमारी एकता क्रांति दल है जो आप कहां पर हैं। अगर हां तो प्लीज जरूर हमारा चैनल को तेज को जानते सुनील अधिकारी दाल के सर्च करेंगे तो आपको वहां पर मेरा प्रोफाइल में जाकर वहां से जरूर हमें फॉलो करेगा। वहां पर हम सपोर्ट करते हैं। सकता हूं। 


You have to wait 58 seconds.

Generating Download Link…


Leave a comment